0
गुरु गोरक्षनाथ मंदिर गोरखपुर के महंत अवेद्यनाथ महाराज के व्यक्तित्व व कृतित्व पर आधारित पुस्तक ‘राष्ट्रीयता के अनन्य साधक’ (तीन खण्डों में ) का लोकार्पण 8 सितम्बर 2012 को पूर्व गृहमंत्री एवं बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने किया। गोरखनाथ मंदिर के ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ स्मृति •ावन में आयोजित समारोह में मौजूद देश के शीर्षस्थ संत, महात्मा, राजनेता और विद्वतजन इसके साक्षी बने। लालकृष्ण आडवाणी ने इस पुस्तक को समाज के लिए जरूरी बताया तो पूर्व गृहराज्य मंत्री एवं परमार्थ आश्रम हरिद्वार के अध्यक्ष स्वामी चिन्मयानन्द सरस्वती ने कहा कि लोकार्पित पुस्तक महज एक ग्रंथ नहीं देश के उन सवालों का जवाब है, जिससे राष्ट्र व समाज जूझ रहा है। अध्यक्षता मस्तनाथ मठ अस्थल बोहर, रोहतक हरियाणा के महंत चांदनाथ महाराज ने की।
कार्यक्रम को बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कलराज मिश्र, राष्ट्रीय महामंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, जगत्गुरू रामनुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य महाराज, जगत्गुरू रामानन्दाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य महाराज, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कलराज मिश्र, राष्ट्रीय महासचिव नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी, महंत सुरेश दास, डा. रामविलास दास वेदांती, महंत गुलाबनाथ महाराज, महंत सुरेन्द्र नाथ अवधूत आदि ने सम्बोधित किया।
कार्यक्रम के शुरू में मुख्य अतिथि एवं मंचासीन संतों ने ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ की आदमकद प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया। तदुपरान्त गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी एवं कार्यक्रम के संयोजक योगी आदित्यनाथ ने अतिथियों का परिचय कराते हुए उनका स्वागत किया। ग्रंथ के संपादक प्रो. सदानन्द गुप्त ने पुस्तक परिचय प्रस्तुत किया। योगी ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह, अंगवस्त्र एवं पुस्तक प्रदान कर सम्मानित किया। संपादक मण्डल को मुख्यअतिथि श्री आडवाणी ने सम्मानित किया। संचालन डा. •ागवान सिंह और आ•ाार ज्ञापन पूर्व कुलपति प्रो. यू.पी. सिंह ने किया।

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top