6
रूपक के अनुसार हमारे शरीर को नौ मुख्य द्वारों वाला कहा गया है। इसके अंदर निवास करने वाली जीवनी शक्ति को दुर्गा कहा गया है। इन नौ दरवाजों यानी नौ मुख्य इन्द्रियों- मुख, नासिका के दोनों छिद्र, शिश्न, गुदा, दोनों नेत्र गोलक व दोनों कर्ण छिद्र, में अनुशासन, स्वच्छता, तारतम्य स्थापित करने तथा शरीर तंत्र अच्छी तरह क्रियाशील रखने के लिए नौ दिनों तक मनुष्य संयमित जीवन व्यतीत करता है, इसलिए इसे नवरात्र कहते हैं। शरीर को सुचारु रखने के लिए विरेचन, सफाई या शुद्धि हम प्रतिदिन करते हैं परन्तु इसके अंग-प्रत्यंगों की पूरी तरह से सफाई व शुद्धता के लिए प्रत्येक छह माह पर नौ दिनों तक व्रत रखा जाता है। सात्विक आहार वृत्ति से शरीर की शुद्धि, स्वच्छ शरीर में शुद्ध बुद्धि, उससे उत्पन्न उत्तम विचार, उत्तम विचारों से उत्तम कार्य और उत्तम कर्मों से सद्चरित्र उत्पन्न होता है जो धीरे-धीरे मन को शुद्ध करता है। आचार्य शरदचंद्र मिश्र ने कहा कि नौ द्वारों वाले शरीर के भीतर स्थित एक ही दुर्गा के नौ रूप हैं नौदुर्गा जिन्हें शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्माण्डा, स्कन्दमाता, कात्यायिनी, कालरात्रि, गौरी और सिद्धिदात्री कहा जाता है । इन नौ रूपों का नौ जड़ी-बूटियों से संबंध है। कुट्टू का संबंध शैलपुत्री से, ब्रह्मचारिणी से दही का, चंद्रघंटा से चौराई का, कूष्माण्डा से पेठा का, स्कन्दमाता से तीनी चावल का, कात्यायनी से हरी सब्जियों का, कालरात्रि से काली मिर्च व तुलसी का, महागौरी से साबूदाना का और सिद्धिदात्री से आंवला का संबंध है। इन पदार्थों का शरीर शोधन में प्रयोग किया जाता है।

keyword: navratra

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गुगल सर्च से ली गई है, यदि किसी फोटो पर किसी को आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगीा

Post a Comment

  1. nice information...learn many things about navaratri.

    ReplyDelete
  2. Thank you so much. i have always desired information such as what you have been writing on our festivals. i shall continue to imbibe more and more aur iske liye main tahay dil se aapka shukriyada karna chahoongi. :)

    ReplyDelete
  3. This information is really very new to me . I can now share this information with my mother and make her realize that I do also know about Hinduism.

    ReplyDelete

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top