0
नजर दोष के बारे में माना जाता है कि नजर केवल छोटे बच्चों को लगती है। लेकिन ऐसा नहीं है। बच्चों के अलावा बड़ों को या मकान, दुकान आदि किसी भी सुन्दर वस्तु को नजर लग जाती है। बच्चों को जब नजर लग जाती है तो उसका स्वास्थ्य सही नहीं रहता है। खाना-पीना कम हो जाता है और व दिन-ब-दिन सूखता जाता है। इस प्रकार की समस्या के लिए नजर दोष निवारण बहुत उपयोगी है।

विधि- नवरात्र में या किसी शुभ मुहूर्त में प्रतिदिन इस यंत्र को 64 बार अनार की कलम या लाल पेन से किसी कागज पर लिखें। अंतिम दिन इस यंत्र को भोजपत्र पर बनाकर इसकी पूजा करें और धारण कर लें। यदि मकान, दुकान के निमित्त बनाना हो तो आठ इंच लम्बी व आठ इंच चौड़ी लकड़ी पर सिन्दूर की सहायता से इसे बनाएं और सामने की दीवार पर इसे टांग दें।
आचार्य शरदचंद्र मिश्र, 430 बी आजाद नगर, रूस्तमपुर, गोरखपुर

keyword: kavach, yantra

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गुगल सर्च से ली गई है, यदि किसी फोटो पर किसी को आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगीा

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top