1
गुरु, शनि, राहु व केतु का दुर्लभ संयोग 296 वर्ष बाद आ रहा है। 19 जून को गुरु अपनी उच्च राशि कर्क में प्रवेश करेगा। शनि अपनी उच्च राशि तुला में पहले से ही चल रहा है। 13 जुलाई को राहु व केतु भी वक्री गति से चलकर अपनी राशि कन्या और मीन में पहुंचकर स्वगृही हो जाएंगे। ग्रहों की इन स्थितियों पर ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक स्थितियों में सुधार की उम्मीदें बढ़ेंगी।
ज्योतिषाचार्य पं. शरदचंद्र मिश्र, पं. नरेंद्र प्रताप मिश्र, डा. अरविंद सिंह व डा. जोखन पांडेय शास्त्री ने कहा कि 2 नवम्बर 2014 को शनि राशि परिवर्तन करेगा। इसलिए 19 जून से 2 नवम्बर तक दो प्रमुख ग्रह गुरु व शनि उच्च राशिगत रहेंगे। गुरु, शनि व राहु का क्रमश: कर्क, तुला व कन्या राशि में आना सैकड़ों वर्षों में एक बार होता है। यह संयोग 296 वर्ष के बाद आ रहा है। शनि व गुरु दोनों उच्च के हों तो राजयोग कारक होते हैं। यदि चर लग्न हो तो उस स्थिति में ये दोनों ग्रह क्रमश: हंस व शश योग का निर्माण करते हैं। दोनों ही ग्रह केंद्रस्थ होकर आपस में जुड़ेंगे, शनि की गुरु पर पूर्ण दृष्टि होगी। यह स्थितियां राजयोग कारक हैं।
ऐसा मिलेगा फल
राजनीतिक व्यवस्था
केंद्र में राजनीतिक स्थिरता मिलेगी। प्रांतीय सरकारों में अस्थिरता का योग मिल सकता है। राजनेताओं के आचरण से संबंधित दोष उजागर हो सकते हैं। भ्रष्टाचार एवं अन्य आपराधिक मामलों में कमी हो सकती है।
अर्थव्यवस्था
भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए मिश्रित फलदायक है। बैंकिंग एवं फायनेंस सेक्टर में बेहतरी की उम्मीद की जा सकती है। कम्युनिकेशन व कंप्यूटर के क्षेत्र में अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे। महंगाई नियंत्रित हो सकती है। अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में वृद्धि के संकेत हैं।
कानून व्यवस्था
कानून व्यवस्था में सुधार की उम्मीद की जा सकती है। यद्यपि अपराधों की वृद्धि दर में कोई विशेष कमी नहीं दिखाई देगी परन्तु न्यायिक प्रक्रिया के चलते बड़े अपराधियों को दंड मिलेगा और लगेगा कि कानून व्यवस्था में सुधार हो रहा है।
अंतर्राष्ट्रीय संबंध
अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में परिवर्तन के योग हैं। पश्चिमी देशों के साथ संबंधों में प्रतिकूलता व पूर्वी देशों से संबंधों में प्रगाढ़ता के संकेत मिल रहे हैं।
सामाजिक व्यवस्था
समाज के लिए ये स्थितियां अनुकूल फलप्रद हैं। समाज में जागरुकता की स्थिति बनेगी और सामाजिक परिवर्तन की स्वत:स्फूर्त चेतना का निर्माण होगा। महिलाओं की स्थिति में सुधार की उम्मीद है।

keyword: jyotish

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गुगल सर्च से ली गई है, यदि किसी फोटो पर किसी को आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगी।

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top