0
गीताप्रेस में गत 8 अगस्त से चल रहा गतिरोध शुक्रवार को भी समाप्त नहीं हो पाया। कर्मचारियों व प्रबंधन के बीच समझौता वार्ता विफल हो गई। अनेक मुद्दों पर आम सहमति बनी, लेकिन वेतन बढ़ोत्तरी के मुद्दे का पेंच फंस गया। चार चरणों की वार्ता में वेतन बढ़ोत्तरी देने का समय तय न हो पाने से समझौता नहीं हो पाया।
गीताप्रेस में गत 7 अगस्त को बिना शर्त वेतन वृद्धि की मांग कर रहे 12 स्थायी कर्मचारियों को 8 अगस्त को निलंबित व 5 अस्थायी कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया था। उनके ऊपर सहायक प्रबंधक के साथ अभद्रता का अरोप है। इसके बाद कर्मचारियों की मुख्य मांग कुल 17 कर्मचारियों को वापस लेने की हो गई। प्रबंधन 12 स्थायी कर्मचारियों पर विचार करने को राजी है लेकिन 5 अस्थायी कर्मचारियों को वापस लेने को तैयार नहीं।
कर्मचारियों व प्रबंधन के बीच शुक्रवार को उपश्रमायुक्त कार्यालय में एडीएम सिटी बीएन सिंह व उपश्रमायुक्त यूपी सिंह की उपस्थिति में वार्ता शुरू हुई। उपश्रमायुक्त के सुझाव पर प्रबंधन अस्थायी कर्मचारियों को उतने माह का वेतन देने पर राजी हो गया, जितने वर्ष उन्होंने गीताप्रेस में काम किया है। लेकिन वे पांच कर्मचारी इस पर राजी नहीं हुए। वे सदर सांसद योगी आदित्यनाथ से मिलने के लिए निकल गए। पांच कर्मचारियों के मुद्दे को अलग करते हुए अन्य मुद्दों पर वार्ता शुरू हुई।
उपश्रमायुक्त ने समझौता मसौदा तैयार करवाया। मसौदे के अनुसार पांच अस्थायी कर्मचारियों को उतने माह का वेतन दिया जाएगा जितने वर्ष उन्होंने गीताप्रेस में कार्य किया है। 12 कर्मचारियों की बहाली के बाद भी जांच चलेगी, जो दोषी पाया जाएगा उसे बर्खास्तगी के अलावा अन्य दंड दिया जा सकेगा। कर्मचारियों ने जुलाई 2015 से वेतन बढ़ोत्तरी की मांग की। वेतन बढ़ोत्तरी को छोड़कर शेष सभी बिंदुओं पर लगभग आम सहमति बन गई है। तीन चरणों में हुई वार्ता में कोई समाधान नहीं निकल सका। अंत में एडीएम सिटी व उपश्रमायुक्त ने दोनों पक्षों से कहा कि आप बातचीत करके शाम 5 बजे तक अपने मंतव्य से अवगत करा दें। शाम 5 बजे पुन: शुरू हुई बैठक लगभग 7 बजे तक चली लेकिन कोई समाधान नहीं निकल सका।
--------------
प्रशासन के मसौदे को कर्मचारी नहीं मानें। इसलिए बात नहीं बन पाई। एक बिंदु को छोड़कर शेष सभी बिंदुओं पर लगभग आम सहमति बन गई है। बीच का रास्ता निकाला जा रहा है। उम्मीद है कि शीघ्र ही समाधान निकल आएगा।
-ईश्वर प्रसाद पटवारी, ट्रस्टी गीताप्रेस

Keywords: gatividhiyan

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गूगल खोज से ली गई हैं, यदि किसी फोटो पर किसी को कॉपीराइट विषय पर आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगी।

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top