2
आंदोलन के कारण एक माह से गीताप्रेस में कामकाज ठप है। यह गतिरोध दूर करने के लिए उप श्रमायुक्त यूपी सिंह ने दोनों पक्षों को समझौता वार्ता के लिए बुधवार को बुलाया था। बैठक में प्रबंधन की तरफ से उनका पत्र पहुंचा और जिसमें गीताप्रेस द्वारा की गई कार्रवाई को जायज ठहराया गया है। लिहाजा समझौता वार्ता नहीं हो सकी। उप श्रमायुक्त ने अगली समझौता वार्ता के लिए 14 सितंबर की तिथि तय की है। निराश कर्मचारी सदर सांसद योगी आदित्यनाथ के पास गए। योगी ने 14 सितंबर के पूर्व समाधान कराने का आश्वासन दिया है।
8 अगस्त को गीताप्रेस प्रबंधन ने सहायक प्रबंधक के साथ अभद्रता का आरोप लगाकर 12 स्थायी कर्मचारियों को निलंबित व 5 ठेका कर्मचारियों को निकाल दिया था। उसी दिन से गीताप्रेस कर्मचारी हड़ताल पर हैं। पिछली बैठक (4 सितंबर) में प्रबंधन ने साफ कर दिया कि वह 5 ठेका कर्मचारियों को वापस नहीं लेगा, उन्हें क्षतिपूर्ति दी जा सकती है। 12 स्थायी कर्मचारियों पर विचार हो सकता है। स्थायी कर्मचारियों के साथ समझौता वार्ता शुरू हुई। अनेक मुद्दों पर सहमति बन गई लेकिन वेतन वृद्धि की तिथि तय न होने से बात बिगड़ गई थी। स्थायी कर्मचारी अभी भी उम्मीद लगाए बैठे हैं कि समझौता हो जाएगा। लेकिन दूसरी तरफ ठेका कर्मचारियों ने क्षतिपूर्ति लेने से मना कर दिया है और वे आमरण अनशन की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए कर्मचारी गुरुवार को संबंधित अधिकारियों को नोटिस देंगे।

Keywords: gatividhiyan

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गूगल खोज से ली गई हैं, यदि किसी फोटो पर किसी को कॉपीराइट विषय पर आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगी।

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top