0
गीताप्रेस का गतिरोध अब पूरी तरह समाप्त हो गया है। ठेका कर्मचारी भी काम पर लौट आए। विगत 8 सितंबर से 12 स्थायी कर्मचारियों के निलंबन वापसी व 5 ठेका कर्मचारियों को पुन: नौकरी पर लेने की मांग को लेकर कर्मचारियों के आंदोलन के चलते गीताप्रेस बंद था। 14 सितंबर को स्थायी कर्मचारियों की समझौता वार्ता हो गई थी। वे 15 सितंबर से काम पर लौट आए। लेकिन 16 सितंबर को ठेका कर्मचारियों ने बवाल खड़ा कर दिया और स्थायी कर्मचारियों को भी गीताप्रेस के अंदर नहीं घुसने दिया। बाद में जिला प्रशासन, श्रम विभाग व प्रबंधन के साथ कर्मचारियों की बैठक हुई। प्रबंधन ने निकाले गए 5 ठेका कर्मचारियों पर अभी कोई आश्वासन नहीं दिया है लेकिन उन्हें न्यूनतम वेतन व बायोमेट्रिक हाजिरी की व्यवस्था करने की बात कही है। दोपहर बाद ठेका कर्मचारी भी काम पर लौट गए। इस तरह 39 दिन से बंद गीताप्रेस में फिर मुस्कान लौट आई।

Keywords: gatividhiyan

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गूगल खोज से ली गई हैं, यदि किसी फोटो पर किसी को कॉपीराइट विषय पर आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगी।

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top