1
आज के समय में पैसा सर्वाधिक महत्‍वपूर्ण है। पैसा कमाने और बचाने की हर आदमी पूरी कोशिश करता है लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं कि खुले हाथ से खर्च करते हैं फिर भी उन्‍हें पैसे की कभी कमी नहीं पड़ती और कुछ लोग ऐसे होते हैं जो बहुत बचाते हैं फिर भी उनके हाथ में पैसा बचता ही नहीं। इसके कई कारण हो सकते हैं, उनमें से एक कारण हाथ की रेखाएं भी होती हैं। ज्‍योतिष शास्‍त्र के अंतर्गत हस्‍तरेखाओं का भी अपना एक बड़ा विज्ञान है।
-जिनकी हथेली कोमल और अंगुलियां पीछे की ओर मुड़ी होती हैं, वे बहुत उदार प्रकृति के होते हैं। भौतिक सुख ऐसे लोगों के जीवन का केंद्र बिंदु होता है, इसलिए इनका ज्‍यादा खर्च सुख-सुविधाओं पर होता है।
-उंगलियां सीधी करने पर यदि पोरों के बीच खाली स्‍थान बचता है तो समझिए उन हाथों में पैसा कभी टिकेगा नहीं। कितना भी बचाने की कोशिश करेंगे, अचानक खर्च का कोई योग बन जाएगा जिसे टाला नहीं जा सकता। इसलिए बचत की संभावना बहुत न्‍यून होती है। यदि हथेली में गहराई हो तो खर्च करने के बाद भी कुछ न कुछ बचत हो जाती है।
-उंगलियां सीधी करने पर यदि वे एक-दूसरे से चिपक जाएं, पोरों के बीच कोई खाली स्‍थान न बचे और हथेली के बीच में गड्ढा हो तो ऐसे लोग धन खर्च करने में कंजूसी बरतते हैं। बहुत मुश्किल से वे धन खर्च करते हैं।
-जिस व्‍यक्ति की लंबाई सौ अंगुल के बराबर हो वह मध्‍यम श्रेणी का व्‍यक्ति माना जाता है। ऐसे लोग यदि मेहनत करते हैं तो भाग्‍य भी उनका साथ देता है। ऐसे लोग धीरे-धीरे प्रगति करते रहते हैं और पैसा भी बचा लेते हैं।
-शरीर की लंबाई यदि नब्‍बे अंगुल से कम है तो यह अच्‍छा नहीं माना जाता है। ऐसे लोगों को अधम श्रेणी में माना जाता है। इनके जीवन में कठिनाइयां बहुत आती हैं और अपमानित भी होना पड़ता है।
-जिनके शरीर की लंबाई एक सौ आठ अंगुल या इससे ज्‍यादा हो उनका व्‍यवहार व गुण उत्‍तम होता है और वे भाग्‍यवान भी होते हैं, ऐसे लोग उत्‍तम श्रेणी में आते हैं। ऐसे लोग धनवान होते है और समाज में उन्‍हें सम्‍मान भी प्राप्‍त होता है।
-हथेली की जीवन रेखा पतली व स्‍पष्‍ट होने पर उम्र लंबी होती है। यदि जीवन रेखा को कोई अन्‍य रेखा काटती न हो तो यह स्थिति और उत्‍तम है।
-अनामिका उंगली की जड़ से रेखा ऊपर की तरफ जा रही हो तो ऐसे लोगों का परिचय क्षेत्र बहुत व्‍यापक होता है, इनका सूर्य प्रबल होता है। इन्‍हें सत्‍ता पक्ष व पितृ पक्ष से बहुत लाभ होता है।
-भाग्‍य रेखा हथेली के ऊपर से निकलकर मध्यमा उंगली तक जाती है। यह रेखा सीधी और साफ हो तथा कोई दूसरी रेखा इसे काट न रही हो तो ऐसा व्‍यक्ति बहुत भाग्‍यशाली होता है।
-जिनकी हथेली में जीवन रेखा, भाग्‍य रेखा और सूर्य रेखा साफ व स्‍पष्‍ट होती हैं वह धनवान, बुद्धिमान व भाग्‍यशाली होता है।

पं: नरेंद्र उपाध्याय

Keywords: jyotish, hastrekha

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गूगल खोज से ली गई हैं, यदि किसी फोटो पर किसी को कॉपीराइट विषय पर आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगी।

Post a Comment

  1. Bahut acchi bate read karne ko mili.....aapka dhanyavad!

    ReplyDelete

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top