0
छठ व्रत 4 नवंबर से शुरू हो रहा है, इसकी पूर्णाहुति 7 नवंबर को प्रात:कालीन अघ्र्य के साथ होगी। इस व्रत का प्रथम दिन चतुर्थी में शुरू होता है लेकिन तिथि वृद्धि के चलते पंचमी में नहाय-खाय होगा। सायंकालीन अघ्र्य के दिन षष्ठी तिथि सुबह 7.47 बजे तक ही है। इसलिए सायंकालीन यानी प्रथम अघ्र्य सप्तमी तिथि में दिया जाएगा और दूसरा अघ्र्य यानी प्रात:कालीन अघ्र्य भी सुबह सप्तमी तिथि में ही प्रदान किया जाएगा।
ज्योतिषाचार्य पं. शरदचंद्र मिश्र के अनुसार यदि एक दिन पहले षष्ठी तिथि तय कर दी जाती तो सायंकालीन व प्रात:कालीन दोनों अघ्र्य षष्ठी में ही दिए जाते, यह मान्य नहीं है। सप्तमी में दोनों अघ्र्य दिए जा सकते हैं, सप्तमी भगवान सूर्य की तिथि है। षष्ठी में दोनों अघ्र्य देने से केवल षष्ठी देवी की पूजा होती, भगवान सूर्य की पूजा नहीं हो पाती, सप्तमी में दोनों अघ्र्य देने से षष्ठी देवी व भगवान सूर्य दोनों की पूजा हो जाएगी। सप्तमी तिथि भगवान सूर्य की होने के नाते उनकी पूजा हो जाएगी और चूंकि षष्ठी देवी सूर्य की अरुणिमा में वास करती हैं, इसलिए षष्ठी देवी की भी पूजा हो जाएगी। इसलिए पंचांगकारों ने नहाय-खाय की शुरुआत पंचमी तिथि से की है।
-नहाय-खाय: छठ पर्व का प्रथम दिन नहाय-खाय से शुरू होता है। नहाय-खाय 4 नवंबर को है। इस दिन सूर्योदय 6.29 बजे और पंचमी तिथि का मान संपूर्ण दिन व रात है। तिथि वृद्धि होने के नाते चतुर्थी को होने वाली व्रत की शुरुआत इस बार पंचमी को हो रही है।
-खरना: छठ व्रत का दूसरा दिन खरना 5 नवंबर को है। इस दिन सूर्योदय 6.30 बजे और पंचमी तिथि प्रात: 6.55 बजे तक है।
-सायंकालीन अघ्र्य: छठ पर्व के तीसरे दिन कार्तिक शुक्ल षष्ठी को पूर्ण उपवास होता है। यह व्रत 6 नवंबर को है। इस दिन सूर्योदय 6.31 बजे और षष्ठी तिथि सुबह 7.47 बजे तक है। इसके बाद सप्तमी लग जाएगी। सूर्यास्त 5.29 बजे है। इसलिए इसी समय अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को अघ्र्य दिया जाएगा।
-प्रात: कालीन अघ्र्य: षष्ठी व्रत की पूर्णाहुति चतुर्थ दिन उगते सूर्य को अघ्र्य देने के साथ होती है। 7 नवंबर को प्रात:कालीन अघ्र्य दिया जाएगा। इस दिन सूर्योदय 6.31 बजे है, इसी समय प्रात:कालीन अघ्र्य दिया जाएगा। इस दिन सप्तमी तिथि प्रात: 8.05 बजे तक है। अघ्र्य देने के बाद व्रती महिलाएं पारण करेंगी।

Keywords: vrat, chhath vrat

नोट- इस वेबसाइट की अधिकांश फोटो गूगल खोज से ली गई हैं, यदि किसी फोटो पर किसी को कॉपीराइट विषय पर आपत्ति है तो सूचित करें, वह फोटो हटा दी जाएगी।

Post a Comment

gajadhardwivedi@gmail.com

 
Top