0
अखंड सुहाग का प्रतिमान है करवा चौथ अखंड सुहाग का प्रतिमान है करवा चौथ

भारतीय हिन्दू स्त्रियों के लिए करवा चौथ का व्रत अखंड सुहाग प्रदान करने वाला माना जाता है। विवाहित स्त्रियां इस दिन अपने पति की दीर्घायु व स्...

Read more »

0
गोरखपुर में तैयार हुई थी इस्कान की जमीन गोरखपुर में तैयार हुई थी इस्कान की जमीन

अंतर्राष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कान) की जमीन गोरखपुर में तैयार हुई थी। गीता वाटिका गोरखपुर के संस्थापक भाईजी हनुमान प्रसाद पोद्दार की ...

Read more »

3
२९ की रात आसमान से बरसेगा अमृत २९ की रात आसमान से बरसेगा अमृत

शरद पूर्णिमा २९ की रात आसमान से अमृत की वर्षा होगी। शास्त्र ऐसा कहते हैं। इस रात चंद्रमा अपनी सोलह कलाओं के उदित होकर अपनी किरणों से अमृत वर...

Read more »

0
अल्लाह को कुर्बानी का त्योहार है ईदुज्जुहा अल्लाह को कुर्बानी का त्योहार है ईदुज्जुहा

ईदुल अजहा यानी बकरीद का पर्व 27 से 29 अक्टूबर की शाम तक चलेगा। बकरीद पर कुर्बानी के बारे में बताने से पहले हज के बारे में जानना जरूरी है। इस...

Read more »

3
विजयादशमी पर करें अस्त्र-शस्त्र का पूजन विजयादशमी पर करें अस्त्र-शस्त्र का पूजन

विजयादशमी। असत्य पर सत्य की जीत का दिन। इसी दिन राम ने रावण का वध किया था। सत्य जीता था, असत्य पराजित हुआ था। प्रकाश जीता था, अंधकार हारा था...

Read more »

0
आ गया हवन व कन्या पूजन के साथ पूर्णाहुति का दिन आ गया हवन व कन्या पूजन के साथ पूर्णाहुति का दिन

शारदीय नवरात्र व्रत की पूर्णाहुति 22 अक्टू बर दिन मंगलवार को हवन व कन्या पूजन के साथ होगी। नौ दिन व्रत रहने वाले श्रद्धालुओं का इस दिन अंतिम...

Read more »

0
महानिशा में होगी कालरात्रि की पूजा महानिशा में होगी कालरात्रि की पूजा

महाष्टमी व्रत व महानिशा पूजा 22 अक्टूबर को हैा नवरात्र में महाष्टमी कालरात्रि के रूप में जानी जाती है। इस तिथि पर निशा काल (मध्य रात्रि) मे...

Read more »

0
नवरात्र की अत्यंत महत्वपूर्ण तिथियां हैं महाष्टमी व महानवमी नवरात्र की अत्यंत महत्वपूर्ण तिथियां हैं महाष्टमी व महानवमी

नवरात्र में सप्तमी तिथि को मृतिका मूर्तियों की स्थापना की जाती है। परन्तु ‘वीर मित्रोदय’ के अनुसार मूर्तियों की स्थापना मूल नक्षत्र में की ज...

Read more »

1
अमरत्‍व का विज्ञान अमरत्‍व का विज्ञान

इस लेख को पढ़ने के एक प्रयोगधर्मी मन की आवश्‍यकता हैा यह लेख सिर्फ आकर्षण के लिए नहीं लिखा जा रहा हैा इसे कोई यूटोपिया ना समझे, यह लेख अमरत्...

Read more »

0
नौ शक्तियों से युक्त है नवरात्र नौ शक्तियों से युक्त है नवरात्र

नवरात्र नौ शक्तियों से युक्त है। मां की अभ्‍यर्थना का यह सबसे उत्तम समय है। इस दौरान पूजा-पाठ, व्रत आदि करने से शक्ति तो प्राप्त होती ही है,...

Read more »

0
कर्मों से ध्येय की प्राप्ति है मंत्र साधना कर्मों से ध्येय की प्राप्ति है मंत्र साधना

साधना का अर्थ ध्येय प्राप्ति के लिए सत्त प्रयास करना। इस प्रकार मंत्र साधना का अर्थ है मंत्र के माध्यम से ध्येय प्राप्ति के विविध व सत्त प्र...

Read more »

0
कुमारी पूजन से प्रसन्न होती हैं मां दुर्गा कुमारी पूजन से प्रसन्न होती हैं मां दुर्गा

नवरात्र में कुमारी पूजन का विशेष महत्व है। इससे मां दुर्गा प्रसन्न होती हैं और भक्त को धन-धान्य से परिपूर्ण कर देती हैं। इसीलिए हवन के बाद न...

Read more »

0
नवरात्र: क्षत्रभंग योग, केन्द्र सरकार पर आ सकता है संकट नवरात्र: क्षत्रभंग योग, केन्द्र सरकार पर आ सकता है संकट

मंगलवार को शुरू होने वाले नवरात्र का समापन भी मंगलवार को ही है। दीपावली भी मंगलवार को पड़ रही है अर्थात देवी लक्ष्मी का आगमन भी मंगलवार को है...

Read more »

0
16 से शुरू होगी शक्ति की आराधना 16 से शुरू होगी शक्ति की आराधना

शक्ति की आराधना का पर्व नवरात्र मंगलवार से परंपरागत से आस्था व श्रद्धा के साथ शुरू होगा। जिसकी पूर्णाहुति 23 अक्टूबर को होगी। 24 को विजयादशम...

Read more »

1
धार्मिक अनुष्ठानों का केन्द्र है गीतावाटिका धार्मिक अनुष्ठानों का केन्द्र है गीतावाटिका

लेखक- स्‍वाती श्रीवास्‍तव गोरक्षनगरी के उत्तर भाग में स्थित गीतावाटिका आज भारतीय मनीषा, साधना, तप तथा धार्मिक-आध्यात्मिक अनुष्ठानों का केन्...

Read more »

0
जीवत्पुत्रिका व्रत 8 अक्टूबर को जीवत्पुत्रिका व्रत 8 अक्टूबर को

पुत्रों के दीर्घायु व आयुष्य की कामना का व्रत जीवत्पुत्रिका व्रत (जिउतिया) 8 अक्टूबर (सोमवार) को है। इसकी तैयारियां शुरू हो गयी हैं। ज्योतिष...

Read more »

0
व्यष्टि से समष्टि तक व्यष्टि से समष्टि तक

समष्टि अपनी इच्छाओं के परिपालन में ही सिकुड़कर व्यष्टि बन जाती है। इसी व्यष्टि को गीता, माया की संज्ञा देती है। मेरा यह लेख विशेष रूप से आध्...

Read more »

0
कबीर परम विद्रोही हैं कबीर परम विद्रोही हैं

तुम जैसे भी हो, ठीक उससे उलटा होना ही मार्ग है। जिस दिशा में तुम चल रहे हो, उससे उलटा चल सकोगे तो पहुँचोगे। गंगा बहती है सागर की तरफ। मूल ...

Read more »

0
प्रेम और ध्यान की खदान प्रेम और ध्यान की खदान

एक राजधानी में एक भिखारी एक सड़क के किनारे बैठकर बीस-पच्चीस वर्षों तक भीख मांगता रहा। फिर मौत आ गयी, फिर मर गया। जीवन भर यही कामना की कि मैं...

Read more »

0
प्रेम, विवाह और तंत्र- चिकित्सा प्रेम, विवाह और तंत्र- चिकित्सा

और तुम पाओगे, तुम्हारा प्रेम इस मुक्ति में बढ़ेगा, फलेगा, गहरा होगा। और जल्दी ही तुम दोनों ही ध्यान की तरफ अपने आप आकर्षित हो जाओगे मैं दुन...

Read more »

0
बाबा कीनाराम आश्रम: साधकों की अगाध आस्था का केन्द्र बाबा कीनाराम आश्रम: साधकों की अगाध आस्था का केन्द्र

अपनी अध्यात्मिक शक्तियों का और लोक कल्याण के लिए विख्यात भगवान आदि शिव व दत्तात्रेय की परंपरा को आगे ले जाने वाले औघण बाबा कीनाराम की देशना ...

Read more »

0
सफल वैवाहिक जीवन का आधार कुण्डली मिलान सफल वैवाहिक जीवन का आधार कुण्डली मिलान

लेखक- श्रीमती रीता अग्रवाल जीवन के सर्वाधिक महत्वीपूर्ण संस्का रों में सबसे महत्व पूर्ण व प्रामाणिक संस्कातर है विवाह। विवाह न केवल मानवीय ...

Read more »

0
नागार्जुन नागार्जुन

मैं तुम्हें नागार्जुन के जीवन से एक प्रसंग बताता हूं। भारत ने जो महान गुरु पैदा किए हैं, नागर्जुन उनमें से एक थे। वे बुद्ध, महावीर और कृष्ण ...

Read more »

0
ओशो ओशो

आज से अस्सी वर्ष पूर्व 11 दिसंबर 1931 को ओशो देह रूप में प्रकट हुए। अजन्मा और निराकार आकार में रूपायित हुआ। 11 दिसंबर का दिन इस बात की खबर ह...

Read more »

0
ध्‍यान विधि- मुक्ति हेतु दिशा-निर्देश ध्‍यान विधि- मुक्ति हेतु दिशा-निर्देश

तीन अनिवार्यताएं ध्यान में कुछ अनिवार्य तत्व हैं, विधि कोई भी हो, वे अनिवार्य तत्व हर विधि के लिए आवश्यक हैं। पहली है एक विश्रामपूर्ण अवस्थ...

Read more »

0
नारद नारद

नारद सेतु हैं। इस तरफ से देखो तो बिलकुल संसारी हैं! और उस तरफ से तुम देख न सकोगे; उस तरफ से मैं देख रहा हूं। उस तरफ से देखो तो परम वीतराग है...

Read more »
 
Top